प्रेस विज्ञप्ति

श्रीदेवी

ताजनगरी में श्रीदेवी को दी गई श्रद्धांजलि, यहां पर गांवों की गलियों से गुजरी थीं ‘रूप की रानी’

पबलिश्ड ऑन: 01/01/2018

8 अप्रैल 2014 की तपती दोपहरी। खुली जीप। सिर पर पल्लू। आंखों पर काला चश्मा। बैंगनी रंग की साड़ी में जब ‘रूप की रानी’ कस्बों से होती हुई गांवों की गलियों से गुजरी तो सब हवाहवाई हो गए। छतें, महिला और बच्चों से अट गईं और गलियां युवाओं से भर गईं। हर कोई ‘चांदनी’ की […]

और